*हिंदी दिवस के अवसर पर विचार गोष्ठी*

गतिविधियाँ(Activities)


photo

*बनारस की घाट-संध्या मे शामिल हुए बाल भवन के दो बाल कलाकार*

कला, नृत्य एवम अध्यात्म की त्रिवेणी बनारस के घाटों पर इन दिनों चर्चा का विषय है 605वें हुई और 606वें दिन बाल भवन जबलपुर के दो बाल कलाकारों ने काशी के घाट पर होने वाली घाट संध्या में अपना कार्यक्रम प्रस्तुत किया । ज्योति गुरु श्री मोती शिवहरे के मार्गदर्शन में शिक्षा प्राप्त कर रहे कथक नृत्य साधक संकल्प और सन्मार्ग परांजपे के पिता श्री संदीप परांजपे और माता श्रीमती किरण परांजपे ने इन दोनों बच्चों को कथक साधना में पारंगत करने कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है ।संकल्प परांजपे एवं सन्मार्ग परांजपे संभागीय बाल भवन के सदस्य हैं । उनकी प्रतिभा को पद्मश्री नूपुर जैन में बनारस के गंगा घाट पर सम्मानित किया । 

 

जिला साँस्कृतिक समिति, वाराणसी द्वारा जनसहयोग से प्रारम्भ सुबह-ए-बनारस के निरंतर 800 दिन पूर्ण होने से उत्साहित और प्रेरित हो ‘घाट-संध्या’ का शुभारम्भ दिनांक 01 फरवरी, 2017 से गंगा महल-रीवाघाट से किया जा रहा है। इस *घाट-संध्या* की विशेषता के रूप में काशी की संस्कृति के कलात्मक रूप के साथ नृत्य एवं अध्यात्म को पिरोते हुए एक नियमित संध्या की पहल है जिसके माध्यम से कलाकारों को उचित मंच प्राप्त होगा तथा देशी-विदेशी यात्रियों के लिए दर्शनीय स्थल भी स्थापित हो सकेगा। वस्तुतः जिला सांस्कृतिक समिति द्वारा काशी को सांस्कृतिक राजधानी के रूप में माने जाने वाले स्वरूप को संगठित एवं समन्वित रूप से उजागर करने का एक अभिनव प्रयास किया जा रहा है। इस क्षेत्र में सांयकालीन आरती पूर्व से होती रही है इसी के साथ कला के विभिन्न रूपों को सहयोजित करते हुए एक सकारात्मक वातावरण का निर्माण किया जाना है। पर्यटन विकास के लिए जबलपुर का टूरिज्म विभाग अगर दिल्ली नहीं तो प्रयोग के तौर पर सप्ताहिक रूप से ग्वारीघाट या तिलवारा घाट में कोई कार्यक्रम करे तो निश्चित तौर पर पर्यटन विकास को एक और दिशा मिलेगी । जबलपुर में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं किंतु इनके विकास के लिए सतत कोशिशें जारी रखनी चाहिए और ग्वारीघाट एवं तिलवारा घाट जैसे स्थानों को निरापद एवं आध्यात्मिक चिंतन के साथ-साथ कला संस्कृति और परफॉर्मिंग आर्ट से जोड़ने की जरूरत है जिससे पर्यटक को वह आकर्षित किया जा सके जबलपुर संस्कारधानी मैं ऐसा प्रयोग करना महत्वपूर्ण एवं उपयोगी साबित होगा इसमें उद्योगपतियों और कलाकारों को भी सम्मिलित कर कार्य योजना बनाई जा सकती है जबलपुर टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल और इंटेक के साथ साथ कला संस्कृति से जुड़े शासकीय अशासकीय संस्थानों को मिलाकर एक कार्ययोजना तैयार कर संस्कृति विभाग का सहयोग लिया जा सकता है । 

गिरीश बिल्लोरे, संचालक बालभवन, जबलपुर  | 


photo

*जीवन कौशल शिक्षा प्रशिक्षण का सफल आयोजन*

नेहरु युवा केन्द्र जबलपुर द्वारा संभागीय बालभवन के संयुक्त तत्वावधान में सात दिवसीय जीवन कौशल शिक्षा प्रशिक्षण का शुभारम्भ मध्यप्रदेश शासन के स्वास्थ्य शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) माननीय शरद जी जैन के करकमलों से दिनांक 14 सितंबर 2018 को हुआ हुआ । 

कार्यक्रम की अध्यक्षता श्री सुशील शुक्ला जी ने की। 

श्री मनीष शर्मा जिला कार्यक्रम अधिकारी जबलपुर कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों के औपचारिक स्वागत-सत्कार एवं मां सरस्वती वंदना के साथ हुआ.

अपने उद्बोधन में मुख्य अतिथि श्री शरद जैन मंत्री मध्यप्रदेश शासन चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने कहा कि बच्चों के लिए आयोजित इस तरह की प्रशिक्षण कार्यक्रम अत्यंत महत्वपूर्ण एवं आवश्यक होते हैं . नेहरू युवा केंद्र इस दिशा में सदा ही उत्कृष्ट कार्य करने में सफल रहा है और मैं ह्रदय से कार्यक्रम की प्रशंसा करता हूं और उम्मीद करता हूं कि निकट भविष्य में नेहरू युवा केंद्र ऐसे कार्यक्रम सतत रूप से करते रहेंगे.

photo

जिला कार्यक्रम अधिकारी मनीष शर्मा ने कहा कि जीवन के कौशल को ज्ञान से परिपूर्ण किया जा सकता है इस दिशा में नेहरू युवा केंद्र ने जो कदम उठाए हैं यह सराहनीय है .

संचालक संभागीय बाल भवन जबलपुर श्री गिरीश बिल्लोरे ने कहा कि - हमेशा ही नेहरु युवा केंद्र के लिए आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराते रहने के लिए संकल्पबद्ध है बालभवन अंतर विभागीय समन्वय से आयोजित गतिविधियां किसी भी संस्थान को अत्यधिक सुविधा संपन्न बनाती हैं नेहरू युवा केंद्र जबलपुर के साथ हमारा यह प्रयोग योग दिवस से प्रारंभ हुआ है जो हमेशा जारी रहेगा और जब भी बाल भवन की जरूरत होगी तब बाल भवन ऐसे कार्यों के लिए नेहरू युवा केंद्र ही नहीं अन्य सभी संस्थानों को सहयोग करेगा. 

*इस अवसर पर डॉ संध्या जैन, ( शिक्षाविद साहित्यकार ) एवं वरिष्ठ पत्रकार लेखक , कवि श्री मोहन शशि तथा श्री पुनीत मरवाह भी मौजूद रहे ।*

7 दिवसीय इस प्रशिक्षण कार्यक्रम कार्यक्रम में व्यक्तित्व विकास शिक्षा, स्वास्थ्य उद्यमिता के साथ साथ विधि एवं मतदाता जागरूकता जैसे मुख्य विषयों को प्रमुख रूप से सम्मिलित किया गया है ।

कार्यक्रम में संभागीय बाल भवन की ओर । श्री धीरेंद्र अग्रवाल द्वारा बताया गया कि संभागीय बाल भवन साथ प्रशिक्षण कार्यक्रम सफलतापूर्वक संचालित किया गया है । भविष्य में भी इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन नेहरू युवा केंद्र के तत्वावधान में किया जाता रहेगा श्री अग्रवाल ने यह भी बताया कि किशोरों को प्रशिक्षण के साथ-साथ शैक्षिक भ्रमण पर भी ले जाया गया है

इस क्रम में इस प्रशिक्षण सत्र में प्रतिभागियों को ऐतिहासिक एवं पुरातात्विक महत्व के त्रिपुर सुंदरी मंदिर, रानी दुर्गावती संग्रहालय एवं भंवरताल पार्क जैन धर्म के प्राचीन मंदिर पिसनहारी की मढ़िया का भ्रमण कराया का भ्रमण भी कराया । 

  1. 7 दिन इस प्रशिक्षण में अतुल पांडे जबलपुर इमरान खान उमरिया श्री पंकज चौरसिया मंडला एवम हेमंत चंदरोल मंडला इमरान डॉ अमिता जैन जिला चिकित्सालय जबलपुर श्रीमती पायल चौरसिया पोषण एवं मनोवैज्ञानिक जबलपुर डॉ नूपुर देशकर , डा दीप्ति पारे, आदि प्रशिक्षित ने प्रशिक्षण दिया । *********
photo

*दुर्व्यसनों से दूर रहकर स्वयं का विकास करे तरुणाई- जी इस टी कमिश्नर प्रमोद अग्रवाल*  नेहरू युवा केंद्र जबलपुर के लाइफ स्किल एजुकेशन ट्रेनिंग शिविर का समापन समारोह पर रिपोर्ट 】

नेहरू युवा केंद्र जबलपुर द्वारा संभागीय बालभवन में दिनांक 14 सितम्बर 2018 से चल रहे जीवन कौशल शिक्षा प्रशिक्षण का समापन जबलपुर सर्किल के जी एस  टी कमिश्नर श्री प्रमोद अग्रवाल जी °【भारतीय राजस्व सेवा 】  के मुख्यातिथ्य और महिला बाल विकास विभाग के संयुक्त संचालक श्री एल एन कंडवाल जी की   अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ. समापन समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप मे महिला एवं बाल विकास विभाग की उपसंचालक श्रीमती मनीषा लुम्बा जी उपस्थित रहीं. प्रशिक्षण के दौरान किशोर- किशोरियों को जीवन कौशल का महत्व और आवश्यकता, किशोरावस्था विकास और समस्याएं, दृष्टिकोण, दुविधाएं, मजबूती और कमजोरियां,किशोरावस्था में शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक परिवर्तन,पोषण एवं संतुलित भोजन, व्यक्तिगत एवं सामुदायिक स्वच्छता, स्वास्थ्य की अवधारणा, यौन संक्रमण एवं यौन रोग, एच आई वी एड्स,नशा और स्वास्थ्य,जेंडर एवं सेक्स, प्रजनन स्वास्थ्य,किशोरावस्था में अभिभावक और समाज की भूमिका, मतदाता जागरूकता अभियान, विचार सम्प्रेषण कला, उसका महत्व कौशल,मित्रता,समस्या की पहिचान और समाधान,सहयोग लेने की कला, और सकारात्मक सोच से संबंधित प्रशिक्षण दिया गया. इसके अतिरिक्त प्रधानमंत्री फ्लेगशिप योजनाओं बेटी बचाओ,बेटी पढ़ाओ,स्वच्छ भारत मिशन,मिशन इंद्रधनुष, स्किल इण्डिया,डिजिटल इण्डिया आदि पर भी जानकारी दी गई। photo
प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते हुए मुख्य अतिथि श्री प्रमोद अग्रवाल ने युवाओं से दुर्व्यसन से दूर रहते हुए स्वयं के व्यक्तित्व का विकास करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सत्यनिष्ठा और ईमानदारी ऐसे गुण है जो आपके जीवन के प्रत्येक पल में काम आवेंगे। सत्यनिष्ठ और कर्मठ व्यक्ति समाज में अलग पहिचाने जाते हैं। जिला युवा समन्वयक धीरज अग्रवाल ने नेहरू युवा केन्द्र संगठन के कार्यों पर प्रकाश डालते हुए कौशल विकास प्रशिक्षण के मुख्य बिंदुओं को उदधृत किया ।

photo

बाल भवन के संचालक गिरीश बिल्लोरे ने सम्भागीय बाल भवन को इस कार्यक्रम हेतु चुनने के लिए नेहरू युवा केन्द्र के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए प्रशिक्षण को बहुउपयोगी बताया। उप संचालक श्रीमती मनीषा लुम्बा ने अभिभावकों को किशोरों के लिए पोषक आहार के प्रति जागरूक रहने की सलाह दी।

अंत मे कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री कंडवाल जी ने सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देते हुए भविष्य में स्वस्थ और श्रेष्ठ नागरिक बनने का आव्हान किया। शिविर में प्रशिक्षक के रूप में सहयोग प्रदान करने पर श्री पंकज चौरसिया, हेमन्त चंद्रोल, इमरान खान, डॉ नुपूर देशकर, डॉ दीप्ति पारे का सम्मान किया गया साथ ही व्यवस्था में उल्लेखनीय सहयोग के लिए खेल अनुदेशक श्री देवेंद्र यादव, श्रीमती रेणु पांडे, श्री सोमनाथ सोनी और श्रेष्ठ प्रतिभागियों वरुण यादव, विदुषी शर्मा , मान्या केशरवानी, संस्कृति अग्रवाल, तरुण अहिरवार, खुशबू राय, इप्शिता राइन,अब्दुल रहमान,वन्दना ने अपने विचार व्यक्त फीडबैक दिया ।


photo photo photo photo photo
हिंदी दिवस के अवसर पर विचार गोष्ठी
संभागीय बालभवन एवं नेहरू युवा केन्द्र भारत सरकार द्वारा संयुक्त रूप से हिंदी दिवस का आयोजन दिनाँक 14 सितंबर 2018 को बालभवन जबलपुर में आयोजित किया गया । इस अवसर पर *हिंदी में बाल साहित्य लेखन* विषय पर एक विचार गोष्ठी अतिथि माननीय मंत्री श्रीयुत शरद जैन जी कहां थी बच्चों के समग्र विकास के लिए मातृभाषा एवं भारतीय भाषाओं की विकास की आवश्यकता है सिर्फ रोटी की भाषा नहीं है हिंदी बल्कि संपूर्ण व्यक्तित्व के विकास की भाषा है हिंदी के साथ-साथ अन्य भारतीय भाषाओं क्षेत्रीय भाषाओं के प्रति हमारा सम्मान और निष्ठा जरूरी है समाचार
होंगे कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रुप में पंडित सुशील शुक्ला सदस्य जिला योजना समिति एवं अध्यक्ष बाल भवन सलाहकार एवं सहयोग समिति शुभ अवसर पर अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि संपूर्ण विकास के लिए भाषा की शुद्धता की आवश्यकता को नकारा नहीं जा सकता अतः आवश्यक है कि हम सतत रूप से भाषाई विकास हिंदी के प्रति अपने स्नेह भाव को बनाए रखें श्री मनीष शर्मा जिला कार्यक्रम अधिकारी मैं समस्त भाषाओं के प्रति सम्मान के साथ साथ हिंदी भाषा के विकास तथा उसका तकनीकी में समावेश का अवधान कर बच्चों को बताया कि हिंदी का विकास हमारी भावनाओं और संकल्प पर आधारित है हम अपने विकास के साथ-साथ अपनी मातृभाषा को भुला कर सबसे बड़ी गलती करेंगे . ।
आयोजन में नगर के वरिष्ट कवि श्री मोहन शशि, ने कहा कि बाल भवन एवं नेहरू युवा केंद्र का यह प्रयास निसंदेह अनुकरणीय है जो बच्चों के बीच इस तरह की गतिविधियां निरंतर आयोजित कर रहे हैं तथा सफल हो रहे हैं ऐसे प्रयास निरंतर जारी रहे । डॉक्टर संध्या जैन "श्रुति" ने कहा कि राज हिंदी भाषा ना केवल राजभाषा है बल्कि यह आत्मा की आवाज भी है जिसका विकास परिस्थितिवश उच्च गति पर नहीं पहुंच पाया जिस गति पर पहुंचाना चाहिए इसके लिए सतत प्रयासों को निरंतरता देनी आवश्यक है , इरफान झांस्वी भाषाई साहित्य और विकास के लिए हिंदी के प्रति एक सकारात्मक नजरिया जरूरी है, 
इस अवसर पर बाल साहित्यकारों कु. वैशाली बरसैंया, देवांशी जैन, उन्नति तिवारी, नूतन तिवारी प्रकृति राव आदि अपने-अपने विचार एवं कविताएं प्रस्तुत की उन्हें आयोजकों द्वारा पुरस्कार स्वरूप श्री मोहन शशि की कृति बेटे से बेटी भली भेंट की गई तथा अन्य पुरस्कार प्रदान किए गए ।
कार्यक्रम का संचालन कुमारी उन्नति तिवारी ने किया तथा आभार प्रदर्शन वरिष्ठ अनुदेशक श्रीमती रेनू पांडे द्वारा किया गया कार्यक्रम में अपनी अभिव्यक्ति देते हुए नेहरू युवा केंद्र के जिला समन्वयक श्री धीरज अग्रवाल ने नेहरू युवा केंद्र की गतिविधियों की चर्चा करते हुए 
7दिवसीय स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग के संबंध में विस्तृत जानकारी दी इस अवसर पर श्री पंकज चौरसिया एवं हेमंत चंद्रावल ने अपने विचार व्यक्त किए । 

कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत श्री देवेंद्र यादव श्री सोमनाथ सोनी द्वारा किया गया कार्यक्रम के सफल आयोजन में श्री अतुल पांडे लेखा अधिकारी नेहरू युवा केंद्र का विशेष योगदान रहा ।


photo
हिंदी दिवस के अवसर पर विचार गोष्ठी

संभागीय बालभवन एवं नेहरू युवा केन्द्र भारत सरकार द्वारा संयुक्त रूप से हिंदी दिवस का आयोजन दिनाँक 14 सितंबर 2018 को बालभवन जबलपुर में आयोजित है । इस अवसर पर *हिंदी में बाल साहित्य लेखन* विषय पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया है । कार्यक्रम के *मुख्य अतिथि माननीय मंत्री श्रीयुत शरद जैन जी होंगे जबकि कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रुप में पंडित सुशील शुक्ला सदस्य जिला योजना समिति एवं अध्यक्ष बाल भवन सलाहकार एवं सहयोग समिति तथा श्री *मनीष शर्मा जिला कार्यक्रम अधिकारी होंगे*
आयोजन में नगर के वरिष्ट कवि श्री मोहन शशि, नाट्य निर्देशक संजय गर्ग, डॉक्टर संध्या जैन "श्रुति" प्रोफेसर राजेन्द्र ऋषि , इरफान झांस्वी, के साथ बाल साहित्यकारों कु. वैशाली बरसैंया, देवांशी जैन, उन्नति तिवारी, मास्टर यश जैन, यशी जैन, प्रकृति राव आदि भाग लेंगी ।
*सात दिवसीय स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग*

नेहरू युवा केंद्र जबलपुर के तत्वावधान में संभागीय बाल भवन जबलपुर में दिनांक 14 सितंबर 2018 से 7 दिवसीय स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग का शुभारंभ माननीय मंत्री चिकित्सा शिक्षा श्री शरद जैन द्वारा किया जावेगा इस प्रशिक्षण में 40 से अधिक बच्चों को नामांकित किया है यह बच्चे विधि स्वास्थ्य शिक्षा शासकीय योजनाओं व्यक्तित्व विकास पर्यटन स्किल डेवलपमेंट आदि का प्रशिक्षण प्रशिक्षण अवधि में प्राप्त करेंगे संभागीय बाल भवन द्वारा नेहरु युवा केंद्र के सौजन्य से यह दूसरा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है
अपरान्ह 2 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में आपकी उपस्थिति का आग्रह है ।
*गिरीश बिल्लोरे*
संचालक सम्भागीय, बालभवन, जबलपुर
*धीरज चतुर्वेदी* कोऑर्डिनेटर नेहरू युवा केंद्र जबलपुर मध्य प्रदेश ध्य प्रदेश
photo
संभागीय बालभवन की वैशाली बरसैंया को आज स्वर्गीय ओंकार प्रसाद तिवारी की स्मृति सम्मान से नवाज़ा गया है | वैशाली बरसैंया राज्य स्तरीय बाल श्री प्रतियोगिता की नॉमिनी है | संवाद लेखन एवं अभिनय वैशाली की विशेषता है | संगीत एवं नृत्य में भी वैशाली की खासी दखल है | संभागीय बालभवन वैशाली की इन विशिष्ठ योग्यताओं के लिए सम्मानित होने पर बेहद प्रसन्ननता महसूस कर रहा है | सभी अनुदेशकों के साथ मैं स्वयं अपने आप को भी गौरवान्वित महसूस कर रहा हूँ | अनवरत शुभकामनाये, यशश्वी भवः वैशाली |
गिरीश बिल्लोरे|
photo
*बालिकाओं पर केंद्रित बालसभा का प्रसारण 23 सितंबर को* आकाशवाणी जबलपुर द्वारा संभागीय बालभवन में तैयार *बालसभा* का प्रसारण दिनाँक 23 सितंबर 2018 को अपरान्ह 12:00 बजे से प्राथमिक चैनल पर किया जावेगा । यह बाल सभा मीडियम-वेब पर सुनी जा सकेगी । आकाशवाणी द्वारा प्रति माह कम से कम 1 बालसभा बच्चों को लेकर तैयार एवम प्रसारित की जाती है
photo

photo
संभागीय बाल भवन जबलपुर मैं श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व बच्चों उमंग एवं उत्साह के साथ मनाया गया ।
कार्यक्रम का शुभारंभ श्रीकृष्ण भगवान के पूजन से किया गया । तदुपरांत श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं पर केंद्रित गीत एवम भजनो की प्रस्तुति मास्टर सजल सोनी,शाम्भवी पंड्या, इशिता, यशी, उन्नति, श्रुति, श्रेया, मानसी, हर्ष सौंधिया, सैरिना बर्नाड, एलिशा, राजवर्धन पटेल, याशिका , आरना, प्रत्युषा तिवारी, आलोक मौर्य, श्रद्धा एवम शर्मिष्ठा दासगुप्ता, संगीत समीर सराठे, विशेष शर्मा, द्वारा दी गई ।
इस अवसर पर प्रदर्शित चित्रांजली में सुनीता केवट, विदुषी शर्मा , अनुष्का शर्मा, चेतन साहू, दीपाली ठाकुर, सोनाली ठाकुर , शिवानी नामदेव, पारुल वाघ, मधु राय, अविनाश कश्यप, के चित्रों तथा बालिका नूतन श्रीवास्तव वेस्ट मेटेरियल से बनाए झूले का प्रदर्शन किया ।
पारुल वाघ द्वारा कथक नृत्य में *कालिया मर्दन कथा* की प्रस्तुति दी | मटकी फोड़ कार्यक्रम में 16 बच्चों क्रमशः तरुन, लकी, ओमकार, रोहन, हर्षित, निहाल, प्रिंस, साहिल, कृष्णा, वैभव, युवराज, महेश, वासु, यश, एवम चेतन ने पिरामिड बनाकर मटकी फोड़ी । आयोजन में संचालक सहित सभी कर्मचारी, एवम शिक्षक उपस्थित रहे| |
photo
संभागीय बालभवन जबलपुर की पारुल वाघ ने जबलपुर की एक संस्था गुंजन कला सदन द्वारा आयोजित चित्रकला प्रतियोगिता में अपने वर्ग में प्रथम स्थान अर्जित किया है दिनांक 1 सितंबर 2018 को कुमारी पारुल वाघ को शहीद स्मारक रंगमंच जबलपुर में आयोजित स्वर्गीय पूरनचंद श्रीवास्तव के जन्मदिवस जिसे जबलपुर में बुंदेली दिवस के रुप में मनाया जाता है सम्मानित किया गया संभागीय बाल भवन द्वारा को अनवरत शुभकामनाएं|
photo
दिनांक 31 अगस्त 2018 को संभागीय बाल भवन के बाल गायक सजल सोनी को नई दुनिया द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में न केवल गायन का अवसर दिया बल्कि उसकी गायकी के कारण संभागी बाल भवन को भी सम्मानित किया गया शुभकामनाओं सहित
photo

संगीत निर्देशक डॉ.शिप्रा सुल्लेरे


बाल भवन एक ऐसा केंद्र है जिसमें बच्चों का सर्वांगीण विकास एक साथ होता है , बालभवन की कोशिश है की हर बच्चा बाल भवन से कुछ नया सीखें ओर देश का नाम रोशन करे ।
photo

श्रीमती रेनू पांडे, क्राफ्ट एंड आर्ट


दिनांक 8 .8 . 18 को चित्रकला एवं मूर्तिकला प्रतियोगिता आयोजित हुईं ,जिसमे लगभग 100 से भी ज़्यादा बच्चों ने हिस्सा लिया । बच्चों ने चित्रों के माध्यम से अपने विचार व्यक्त किये |
photo

श्री देवेन्द्र यादव , खेल प्रशिक्षक


दिनांक 9 .9 .18 को खेलकूद की प्रतियोगिताएं संपन्न हुई जिसमे 5 से 12 वर्ष के लगभग 180 बच्चे मौजूद रहे । इस दौरान अभिभावक भी खुशहाल नज़र आये ।
photo

श्री सोमनाथ सोनी, तबला प्रशिक्षक


दिनांक 8 .8 . 18 को देशभक्ति सुगम गायन, समूह गायन, काव्यपाठ प्रतियोगिता आयोजित हुईं | जिसमे कई बच्चों ने अपनी गायन वादन की प्रतिभा दिखाई |
रिपोर्ट :- मनीषा तिवारी , छात्रा मासकम्युनिकेशन एवम जर्नलिज़म जबलपुर


more...